Mystery Of Titanic | How the World's Greatest Ship Disappeared ?

Mystery Of Titanic, How the World's Greatest Ship Disappeared ?, Titanic,
Admin

  Mystery Of Titanic | How the World's Greatest Ship Disappeared ? नमस्कार दोस्तों बात है १० एप्रिल १९१२ RMS  टाइटेनिक दुनिया का सबसे बढ़ा और लक्जरियस जहाज़ (Titanic) अपने पहले आपने सफर पर निकलता है ऐ Southampton, इंग्लैंड से न्यूयॉर्क जा रहा है और इसके अंदर हर तरह के लोग बैठे है बड़े बड़े  इंडस्ट्रियलिस्ट्स  और एक्टर लेकर और भी अमेरिका जा रहे है बेहतर ज़िंदगी की तलाश में.

Mystery Of Titanic

Mystery Of Titanic - इस जहाज की कमांड संभाले है सीनियर कैप्टन Edward John Smith पैसेंजर में और पब्लिक में मिडिया में बहुत ही Excitement इस Titanic जहाज़ को लेकर आखिर न सिर्फ दुनिया की बड़ी शिप है २६९ meters length में और ५३ meters high ऊँची बल्कि जो Luxury इस्तेमाल करि है दिल दहलाने वाली है उस ज़माने शिप को बनाने में कोस्ट ७.५ मिलियन  डॉलर जो की इन्फ्लेशन को अकाउंट में लेकर चलोगे तो आजके बराबर  ४०० मिलियन डॉलर होते है। 

Titanic के अंदर की सुविधाए 

Titanic Future & Decoration - शिप के अंदर की फेसिलिटी और डेकोरेशन किसी ५ स्टार होटल को भी पीछे छोड़ दे   स्टैनेड ग्लास की खिड़किया और औरनेट वुड पैनलिंग और बड़े बड़े ग्रैंड Staircase x 2 Heated Swimming Pool, Turkish Bath, Electric Bath & Gym, Squash Court, 4 Restaurants, 2 Barbershop , Library और तो और जिस तरह की सेफ्टी फ्यूचर का इस्तेमाल किया गया है टाइटेनिक को बनाने में और शिप को Unsinkable माना जाता था। एक ऐसी शिप है जो कभी  डूब  ही नहीं सकती है क्यों की इतनी सेफ है. White Star Line कंपनी का नाम था जिसने ऐ Titanic Ship को बनाया था।  इस कंपनी का वाईस प्रेजिडेंट थे Philip A.S Franklin उन्होंने पब्लिक के सामने आकर कहा था के ज़हाज़ Unsinkable है। लेकिन अपने पहले सफर पर रवाना होने पर २ ही दिन बाद १२ एप्रिल १९१२। टाइटैनिक को अपनी पहेली आइस वार्निंग मिलने लग जाती है. 

How the World's Greatest Ship Disappeared ? 

Mystery Of Titanic - यानी जिस अटलांटिक ओसियन पर तेर कर ऐ टाइटेनिक  America  की और बढ़रहा है वहापर Ice मौजूद है बड़े बड़े बर्फ के पहाड़ मौजूद है। Ice बर्फ जो खतरा है इस जहाज़ के लिए ऐ वार्निंग को इतनी Unusual चीज़ नहीं है. समुन्द्र से गुजरने वाले ज़हाज़ अक्सर अपने आसपास जहाज़ को अपने रेडिओ करके बताते रहते है. के समुंद्र के इस एरिया में बर्फ मौजूद है। के ध्यान से आगे बढ़ना इन वार्निंग को रिसीव करने के बाद Titanic अपने कोर्स को २ बार बदलती  डेंजर को अवॉयड  करने के लिए।  इस स्पीड को कम नहीं करती है २१.५ knots जो की 40 km १ घंटे के बराबर है। इतनी ही तेजी से ज़हाज़ आगे बढ़ता है अपने लक्ष्य के और २ दिन के बाद १४ एप्रिल १९१२ को ७ और आइस वार्निंग दी जाती है।  लेकिन कैप्टन स्मिथ और उसके ग्रुप इसको इग्नोर करके रफ़्तार कम नहीं करते है। 

Ice Warning - धीरे धीरे सूरज ढल जाता है रात हो जाती है तापमान निचे गिरता है इस १४ एप्रिल १९१२ के बारे में के चाँद बहार नहीं आया था बिना मून के कोई मूनलाइट नहीं थी तो विजिबिलिटी कम थी। जहाज़ के ऊपर एक Crows Nest होता है एक छोटा सा प्लेटफॉर्म जो काफी हाइट पर होता है Look Out Point यहां पर किसी को बिठाया जाता है हमेशा ताकि सामने जहाज़ के क्या आ रहा है वह नज़र रखते है कही कुछ ट्रैफिक तो नहीं है और ऑब्स्ट्रक्शंस तो नहीं आ रही है जो बंदा इस जगह पर बैठा था तो उसे बड़ी ही ठण्ड का सामना करना पड़ता है बहुत तेज रफ़्तार से ठंडी हवा बह रही थी ऊपर से रात का समय था और ठंडी हवा के वजह से आँखों से आंसू  भी आने लगते है. जिसे आगे देखना और भी मुश्किल हो जाता है रात के ११:३९ pm को Frederick Fleet नाम का एक बाँदा इस Crows Nest पर बैठता है और अचानक सामने देखता है एक बड़ा सा बर्फ का पहाड़ जल्दी से ३ बार घंटी को बजता है  बैठे लोको सुन सके फिर फोन उठाकर कॉल करता है ऑफिसर्स को चीलाकर कहता है सामने हमारे एक Iceberg है जल्दी से जहाज़ को मोडो १स्ट ऑफिसर William Murdoch इस मेसेज को सुनते है और इंजन रूम  को संदेस देते है के जहाज़ को लेफ्ट मोरदो लेकिन Unfortunately बहुत लेट हो चूका था सिर्फ एक मिनिट बाद ११:४० pm जहाज़ जाकर Iceberg से टकरा जाती है "The Titanic Was A New Breed Of Luxury Life" 

Iceberg भी को छोटा मोटा नहीं था Length में २०० x ४००  फिट बड़ा था. हाइट में ये Crows Nest तक आ रहा था Scientist एस्टीमेट  है की iceberg का वजन १.५ मिलियन टोनस था iceberg के साथ ही टकराता है टाइटेनिक जहाज का Right Side Collided स्पेसिफिकली कहा जाये तो कोनसा हिंसा होता है जहाज का Bow का एरिया होता है  Bow के ऊपर के एरिया होता है उसे स्टर्न कहते है और उसके निचे निकला पार्ट होता है Keel कहते है करीब १० सेकेंड तक, ये जहाज़ iceberg के साथ गिरता चला गया और एक बहुत बड़ा डेन्ट पड गया. इसकी वजह से शिप मेन बॉडी में कुछ छोटे छोटे होल्स भी आ गए आप ये सोचोंगे के ये कैसे पॉसिबल हो सकता है के एक बर्फ का टुकड़ा मेटल को कैसे काट सकता है अपने फ्रिज में रखी बर्फ को इस्तेमाल करोगे तो उसे मेटल नहीं कटेगा लेकिन ये ध्यान रखे के एक बर्फ का पहाड़ उसका खुदका वजन कितना होता है. अब कहने के लिए तो लकड़ी भी मेटल को नहीं काट सकती। लेकिन फिर भी आपकी मेटल की बनी कार जाकर पेड़ से टकरा कर पूरा चकना चूर हो सकती है. तो Similarly, क्यों की इस iceberg का वजन इतना था क्यों के इतना बड़ा था के इस titanic जहाज को बुरी तरीके से चोट पहुचाय।  और कुछ सेकंड के बाद Edward Smith एंड अन्य ऑफिसर तुरंत पहोचे देखने के लिए  के जहाज को कितनी चोट पहोची है इस इम्पैक्ट के वजह से और देखा तो उन्होंने realized किया की ये जहाज तो डूब जायेगा. वह completely शोक हो गए इस चीज़ को देखकर। इन्हे लगता था की ये जहाज तो Unsinkable है कभी डूब नहीं सकता. 


إرسال تعليق

Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.